उत्तराखंड प्रदेश

उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस ने बुजुर्ग प्रत्याशियों पर भी जताया भरोसा, पढ़े पूरी खबर

कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में अपने बुजुर्ग प्रत्याशियों पर भी जमकर भरोसा जताया है। इसी विश्वास के तहत कांग्रेस ने चुनाव में बुजुर्गों पर दांव खेला है। करीब छह ऐसे उम्मीदवार हैं, जिनकी उम्र 70 साल से अधिक है। इसके साथ ही 60 साल से ऊपर वाले भी बड़ी संख्या में प्रत्याशी बनाए गए हैं। कांग्रेस ने कई सीटों पर अधिक उम्र वालों को अपना प्रत्याशी बनाया है। पूर्व सीएम हरीश रावत जहां 73 साल के हो गए हैं।

वहीं रायपुर से प्रत्याशी पूर्व कैबिनेट मंत्री हीरा सिंह बिष्ट 79 वर्ष, कालाढूंगी से प्रत्याशी पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल 73 वर्ष, जागेश्वर से पूर्व स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल 76 वर्ष, धर्मपुर से पूर्व कैबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल 73 साल के हैं। पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य 70 साल के हैं। 60 वर्ष से अधिक उम्र वालों में चकराता से प्रत्याशी नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह 63 वर्ष के हैं। देवप्रयाग से प्रत्याशी पूर्व कैबिनेट मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी भी 63 वर्ष के हैं।

कोटद्वार से प्रत्याशी पूर्व कैबिनेट मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी की उम्र 64 साल है। विकासनगर से पूर्व कैबिनेट मंत्री नवप्रभात की उम्र 65 वर्ष है। किच्छा से प्रत्याशी तिलकराज बेहड़ 64 साल के हैं। धनोल्टी से प्रत्याशी जोत सिंह बिष्ट की उम्र 67 साल है। इसके अलावा भी कई प्रत्याशियों की उम्र 60 से ऊपर है। भाजपा में 70 साल से ऊपर वाले दो प्रत्याशी है। कालाढूंगी से बंशीधर भगत 72 साल, डीडीहाट से बिशन सिंह चुफाल 71 वर्ष के हैं।

हीरा सबसे बुजुर्ग-अनुकृति सबसे युवा
कांग्रेस की लिस्ट में हीरा सिंह बिष्ट सबसे बुजुर्ग प्रत्याशी हैं। उनकी उम्र 79 वर्ष है। दूसरी ओर लैंसडोन से कांग्रेस प्रत्याशी अनुकृति गुसाईं की सबसे कम उम्र 27 साल है। इसके अलावा 50 वर्ष के करीब उम्र वाले एक दर्जन युवाओं को भी प्रत्याशी बनाया गया है।