उत्तराखंड प्रदेश

ऋषिगंगा आपदा: NTPC की टनलों में दफन लोगों के शव मिलने का सिलसिला जारी, एक साल बाद इंजीनियर का मिला शव

ऋषिगंगा में आयी भीषण बाढ़ के साल भर बाद भी एनटीपीसी की टनलों में जिंदा दफ्न हुए लोगों के शव मिलने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को एक टनल की सफाई के दौरान ऋषिकेश निवासी एक इंजीनियर का शव बरामद हुआ। टनल से अभी और शव मिलने की संभावना है।

जोशीमठ के कोतवाल आरएस खोलिया ने बताया कि मंगलवार को टनल से मलबा हटाये जाने के दौरान एक मानव शव मिला है। शव की पहचान ऋषिकेश निवासी गौरव (27) पुत्र गुरु प्रसाद के रूप में हुई है। गौरव एनटीपीसी का काम कर रही कंपनी रितविक में इंजीनियर था। खोलिया ने बताया कि शव का पंचनामा भर दिया गया है।

परिजनों को सूचना दे दी गई है। बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद तपोवन में ही शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। ऋषिगंगा की आपदा में एनटीपीसी के 140 श्रमिक लापता हुए थे। जलप्रलय के कारण एनटीपीसी की मुख्य टनल में दो किलोमीटर तक मलबा घुस गया था। इन दिनों टनल से मलबा हटाने का काम किया जा रहा है। टनलों की सफाई के दौरान अब तक एनटीपीसी के 36 संविदा कर्मचारियों और श्रमिकों के शव मिल चुके हैं।

आपदा के बारे में 
07 फरवरी, 2021 को आई थी आपदा
204 लोग लापता हो गए थे आपदा में
45 शव ही बरामद हुए हैं अभी तक
180 लोगों के जारी किए हैं मृत्यु प्रमाणपत्र