राष्ट्रीय

आयकर विभाग ने कड़ी कार्रवाई करते हुए शिवसेना नेता यशवंत जाधव के 5 करोड़ के फ्लैट समेत 41 संपत्तियों को किया कुर्क

आयकर विभाग ( Income Tax Department) ने कथित कर चोरी के एक मामले में शिवसेना नेता और बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) की स्थायी समिति के पूर्व अध्यक्ष यशवंत जाधव (Yashwant Jadhav) की 5 करोड़ रुपये के फ्लैट सहित 41 संपत्तियों को कुर्क किया है। कुर्क की गई संपत्तियों में भायखला में बिलखडी चैंबर बिल्डिंग में 31 फ्लैट, बांद्रा में 5 करोड़ रुपये के फ्लैट और भायखला में होटल क्राउन इंपीरियल शामिल हैं। अधिकारियों को संदेह है कि जाधव ने सभी संपत्तियां खरीदी हैं जब वह बीएमसी की स्थायी समिति के अध्यक्ष थे। विभाग के सूत्रों ने बताया कि कुर्क की गई संपत्तियां यशवंत जाधव और उनके परिवार के सदस्यों और करीबी सहयोगियों के नाम दर्ज हैं। होटल का नाम शिवसेना विधायक और जाधव की पत्नी यामिनी जाधव की मां सुनंदा मोहिते के नाम पर रखा गया है। आयकर विभाग ने शिवसेना नेताओं विलास मोहिते और विनीत जाधव के करीबी सहयोगियों को बयान दर्ज कराने के लिए तलब किया था, लेकिन उनमें से कोई भी वहां पेश नहीं हुआ। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विलास मोहिते यशवंत जाधव की बीएमसी के काम की देखरेख करते थे, जबकि विनीत जाधव बिमल अग्रवाल की कंपनी न्यूजहॉक मल्टीमीडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक थे। बता दें कि बिमल अग्रवाल वही व्‍यक्ति है, जिसका नाम परमबीर सिंह रंगदारी मामले में सामने आया था। गौरतलब है कि बीते 5 अप्रैल को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 1,034 करोड़ रुपए के पतरा चाल भूमि घोटाला मामले में शिवसेना (Shiv sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) की संपत्ति कुर्क की थी। इस कार्रवाई के तहत ईडी ने संजय राउत के अलीबाग प्‍लाट और दादर में एक फ्लैट को कुर्क किया था। इस पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा था कि क्या मैं विजय माल्या, मेहुल चोकसी, नीरव मोदी या अंबानी-अडानी हूं? चाहे हमारे प्रोपर्टी जब्त हो, गोली मारो या जेल भेजो हम नहीं डरेंगे। दो साल से चुप बैठाने की कोशिश है, चुप बैठा क्या? जिसको फुदकना है, नाचना है नाचने दो। आने वाल समय बताएगा कि सच क्या है और झूठ क्या।