उत्तराखंड

कोरोना के कारण दो वर्ष बाद बिना किसी प्रतिबंध के शुरू हुई यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में है उत्साह, ऐसे कराएंं पंजीकरण

Chardham Yatra 2022 : प्रदेश में तीन मई से गंगोत्री व यमुनोत्री के कपाट खुलने के बाद चारधाम यात्रा शुरू हो चुकी है। कोरोना के कारण दो वर्ष बाद बिना किसी प्रतिबंध के शुरू हुई यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में अति उत्साह है। श्रद्धालुओं की बड़ी भीड़ चारधाम को उमड़ रही है। यात्रा शुरू हुए सप्ताहभर का ही समय हुआ है और दो लाख से ज्यादा लोग चारों धामों में दर्शन कर चुके हैं। अब तक 10 लाख से अधिक पंजीकरण भी हो चुके हैं। चारधाम यात्रा पर पीएमओ की भी नजर अब तक धामों में कुल दो लाख 61 हजार 133 श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। मंगलवार को चारों धाम में 50 हजार से ज्‍यादा श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। इसमें सबसे ज्‍यादा तीर्थयात्री केदारनाथ धाम पहुंचे। वहीं उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री की यात्रा के दौरान उमड़ रही भीड़ और यात्रा मार्गों पर की गई व्यवस्थाओं के बारे में भी पीएमओ लगातार जानकारी ले रहा है। चारधाम दर्शनों के लिए आने वाले यात्री धाम- मंगलवार- कुल यात्री यमुनोत्री- 6554- 52959 गंगोत्री- 11415- 60630 केदारनाथ-18887- 96543 बदरीनाथ- 13560- 49810 ऐसे करें यात्रा पंजीकरण राज्य सरकार ने सभी श्रद्धालुओं के लिए चारधाम यात्रा ई-पास पंजीकरण की व्यवस्था की है। यात्रा से पहले अपना पंजीकरण https://registrationandtouristcare.uk.gov.in/ पर कराना अनिवार्य है। – रजिस्‍ट्रेशन या लागइन पर क्लिक करें। – नए रजिस्‍ट्रेशन के लिए जरूरी जानकारियां भरें। जैसे – नाम और मोबाइल नंबर। – रजिस्‍ट्रेशन के दौरान आवश्यक दस्तावेज फोटो आईडी, कोविड रिपोर्ट भी साथ में रखें। रजिस्‍ट्रेशन के बाद – रजिस्‍ट्रेशन के बाद अपना रजिस्‍टर मोबाइल नंबर और पासवर्ड डालकर ई-पास डाउनलोड करें। ऋषिकेश: यात्रा पर जाने वाले से पहले स्वास्थ्य परीक्षण जरूर कराएं वहीं अपर आयुक्त गढ़वाल नरेंद्र सिंह क्वीरियाल ने कहा कि अगर आप चारधाम यात्रा पर जा रहे हैं तो पहले ही अपना स्वास्थ्य परीक्षण जरूर करा लें। साथ ही शासन और प्रशासन की ओर से यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य केंद्र खोले गए हैं। उन्होंने कहा कि बुजुर्गों और बीमार व्यक्तिों के लिए तो यह अनिवार्य होना चाहिए।