राष्ट्रीय

स्वतंत्रता दिवस पर में हुए ग्रेनेड हमले के 2 हाईब्रिड आतंकी गिरफ्तार, जाने पूरी ख़बर

स्वतंत्रता दिवस पर बडगाम में हुए ग्रेनेड हमले के सिलसिले में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के दो हाईब्रिड आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। कश्मीर जोन पुलिस ने ट्वीट किया, ‘बडगाम पुलिस ने 15 अगस्त को गोपालपुरा में हुए ग्रेनेड हमले की गुत्थी सुलझा ली है। लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों साहिल वानी और अल्ताफ फारूक आमिर को गिरफ्तार किया गया है। आतंकवादियों की ओर से इस्तेमाल किए गए वाहन को जब्त कर लिया गया है। जांच जारी है।’

गौरतलब है कि 15 अगस्त को आतंकवादियों ने बडगाम जिले के गोपालपुरा चदूरा में एक ग्रेनेड फेंका था, जिसमें कृष्ण कुमार नामक व्यक्ति घायल हो गया था। अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि स्कूटी पर सवार दो संदिग्ध व्यक्ति ग्रेनेड फेंकने की वारदात में शामिल थे। उन्होंने कहा कि कई संदिग्धों से पूछताछ की गई और जांच के दौरान पुलिस को सूचना मिली कि तंगनार क्रालपोपरा चदूरा का रहने वाला साहिल अहमद वानी हमले में शामिल था।

लश्कर के इशारे पर वारदात को दिया अंजाम
अधिकारी ने कहा कि वानी को गिरफ्तार कर लिया गया और पूछताछ के दौरान उसने स्वीकार किया कि उसने और मुख्य साजिशकर्ता अल्ताफ फारूक उर्फ ​​अमीर ने वारदात को अंजाम दिया था। उन्होंने कहा कि इसके बाद छापेमारी कर फारूक को गिरफ्तार कर लिया गया। समाज में भय पैदा करने के लिए लश्कर-ए-तैयबा और द रेजिस्टेंस फोर्स (टीआरएफ) के इशारे पर इस वारदात को अंजाम दिया गया था।

बांदीपोरा से एक आतंकी गिरफ्तार
वहीं, जम्मू और कश्मीर पुलिस ने भारतीय सेना के साथ संयुक्त ऑपरेशन में बांदीपोरा से एक आतंकी को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार आतंकी की पहचान इम्तियाज आह बेग उर्फ ​​इना भाई के तौर पर हुई है। वह बारामूला जिले के बेघ मोहल्ला फतेहपोरा का रहने वाला है। पुलिस ने उसके पास से एके 47 राइफल, दो एके मैगजीन और 59 एके राउंड सहित आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद बरामद किया। इस मामले में आगे की जांच चल रही है।