राष्ट्रीय

तो इस वजह से राष्ट्रपति से मिलेंगे आम आदमी पार्टी के विधायक

राज्य सरकारों को गिराने के लिए भाजपा पर ऑपरेशन लोटस चलाने का आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी के विधायक सात सितंबर को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलेंगे। इस दौरान वह राष्ट्रपति से मामले की जांच कराने की मांग करेंगे। बताते चलें कि आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि दिल्ली में उनकी सरकार गिराने के लिए ऑपरेशन लोटस चलाया गया, जिसमें विधायकों को 20-20 करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया था। करेंगे ऑपरेशन लोटस की जांच की मांग आप विधायक आतिशी ने बताया कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सात सितंबर को मिलने का समय दिया है। विधायकों का एक प्रतिनिधिमंडल उनसे मुलाकात करने जाएगा। हम उनसे ऑपरेशन लोटस के जांच की मांग करेंगे। पार्टी का कहना है कि ऑपरेशन लोटस के जरिए दूसरे राज्यों में जहां भाजपा की सरकार नहीं है वहां उसे गिराया जा रहा है। विधायकों को खरीदकर सरकारें गिराई जा रही हैं। महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक समेत कई राज्यों में यही हुआ। दिल्ली में यही करने की कोशिश थी लेकिन यहां सफल नहीं हो पाया। पार्टी का यह भी आरोप है कि देश में ऑपरेशन लोटस के तहत 277 विधायक खरीदे गए जिसके लिए 6300 करोड़ रुपये खर्च किए गए। भाजपा विधायक भी राष्ट्रपति से मिलेंगे दिल्ली में भाजपा और आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के बीच जारी सियासी लड़ाई अब राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के दरवाजे तक पहुंचने वाली है। भाजपा विधायक 6 सितंबर को राष्ट्रपति मुर्मू से मुलाकात कर अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली दिल्ली सरकार को उसके मंत्रियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों सहित कई मुद्दों पर बर्खास्त करने की मांग करेंगे। आप ने एलजी का अपमान किया है:भाजपा दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी ने शुक्रवार को कहा कि ‘आप’ सरकार ने उपराज्यपाल वी.के. सक्सेना का भी अपमान किया है। उन्होंने मांग की कि उपराज्यपाल के खिलाफ अभद्र भाषा के इस्तेमाल के साथ-साथ उन्हें भेजी गई फाइलों पर मुख्यमंत्री के हस्ताक्षर भी नहीं हैं। कैबिनेट की बैठक के बाद उन्हें कैबिनेट नोट भेजे जाते हैं। इन सभी अवैध गतिविधियों को देखते हुए इस सरकार को तत्काल बर्खास्त किया जाना चाहिए। बिधूड़ी ने कहा कि विधायक छह सितंबर को राष्ट्रपति से मिलेंगे और ‘आप’ सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे।