राष्ट्रीय

दिल्ली: बिजली सब्सिडी चाहिए तो इन तीन तरीकों से करे अप्लाई 

दिल्ली में एक अक्तूबर से उन्हीं उपभोक्ताओं को बिजली पर सब्सिडी मिलेगी, जो आवेदन कर इसकी मांग करेंगे। बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह घोषणा की। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि कुछ लोगों की मांग थी कि हम बिजली का बिल दे सकते हैं, तो हमें सब्सिडी क्यों दी जा रही है? हमें सब्सिडी लेने या छोड़ने का विकल्प दिया जाए। केजरीवाल ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि जो लोग बिजली का बिल दे सकते हैं, वो बिल देंगे और जिनको जरूरत नहीं है, वो अपनी सब्सिडी छोड़ देंगे। इसके बावजूद हम जनता तक इस बात को पहुंचाने के लिए व्यापक अभियान शुरू करेंगे ताकि हर किसी को जानकारी मिल सके। कहीं ऐसा न हो कि जानकारी के अभाव में कोई सब्सिडी लेने से वंचित रह जाए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘हम जनता तक इस बात को पहुंचाने के लिए व्यापक अभियान शुरू करेंगे ताकि हर किसी को जानकारी मिल सके। कहीं ऐसा न हो कि जानकारी के अभाव में कोई सब्सिडी लेने से वंचित रह जाए।’ इन तीन तरीकों से पाएं सब्सिडी फार्म भरकर – दिल्ली सरकार बिजली के बिल के साथ आपके पास एक फार्म भेजेगी। – फार्म को भर कर जहां बिजली का बिल जमा करते हैं, वहीं जमा कर दें। मिस्ड कॉल या व्हाट्सऐप के जरिये – दिल्ली सरकार ने 7011311111 नंबर जारी किया है। – आप इस नंबर पर मिस्ड कॉल या फिर Hi लिखकर भेजें। इसके तुरंत बाद एक एसएमएस आएगा, जिसमें एक लिंक होगा। – लिंक पर क्लिक करने पर व्हाट्सऐप पर एक फार्म खुल जाएग। आप उस फार्म को भरकर भेज दें और आप सब्सिडी लेने की लिस्ट में शामिल हो जाएंगे। – जिनके मोबाइल नंबर बिजली के बिल के साथ पंजीकृत हैं, उनको दिल्ली सरकार भी मैसेज भेजेगी। आवेदन के तीन दिन बाद एसएमएस या ई-मेल से सूचना दी जाएगी। पंजीकरण के बाद पत्र मिलेगा एक बार जब रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा तो आखिर में आपके फोन पर दिल्ली सरकार की ओर से इस तरह का पत्र प्राप्त होगा। साथ ही, एक संदेश मिलेगा कि आपकी सब्सिडी आगे भी जारी रहेगी। दिल्ली में 30 लाख लोगों का बिल जीरो आता है 200 यूनिट तक फ्री बिजली, 201 से 400 यूनिट तक आधा रेट है (दिल्ली सरकार के आंकड़े) क्यूआर कोड स्कैन कर मिलेगा फार्म – बिजली सब्सिडी पाने के लिए क्यूआर कोड स्कैन करना होगा। – आपके नए बिजली बिल पर यह क्यूआर कोड होगा। – इसे बिजली कंपनी के ऐप के जरिये स्कैन किया जा सकेगा। – इसे स्कैन करते ही सब्सिडी लेने का फार्म उपभोक्ता के मोबाइल फोन पर खुल जाएगा। जिसमें अपनी जानकारियां भरकर उसे उसी ऐप पर जमा कर सकते हैं। ‘छूट खत्म करने के रास्ते तलाश रही सरकार’ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने बुधवार को कहा कि आप सरकार बिजली सब्सिडी खत्म करने के रास्ते तलाश रही है। अगर सरकार की नीयत साफ होती तो वह कहती की सभी की सब्सिडी जारी रहेगी, लेकिन इसे छोड़ना चाहते हैं केवल वही फार्म भरें। पहले ही दिन से सोशल मीडिया पर लोगों की शिकायत आनी शुरू हो गई हैं कि उन्हें फार्म नहीं मिल रहे। फार्म प्राप्त होने, फिर उन्हें भरने और जमा कराने में लोगों को परेशानी होगी