उत्तराखंड प्रदेश

बदरीनाथ की पहाड़ियों में हुआ हिमपात, रोकी गई केदारनाथ यात्रा

बदरीनाथ की पहाड़ियों में मौसम का पहला हिमपात हुआ है। पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के बाद ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सर्दी ने दस्तक दे दी है। मौसम विभाग की ओर से भारी बारिश की चेतावनी जारी करने के बाद केदारनाथ यात्रा रोक दी गई है।बदरीनाथ की ऊंची पहाड़ियों में मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। बर्फबारी के बाद कड़ाके की ठंड हो रही है। बता दें कि श्राद्ध पक्ष के कारण भारी संख्या में तीर्थयात्री अपने पितरों का पिंडदान करने  बदरीनाथ पहुंच रहे हैं। पहाड़ों में हुई बर्फबारी को देखकर पर्यटन और तीर्थाटक काफी रोमांचित हो रहे है। मौसम विभाग की ओर से भारी बारिश की चेतावनी जारी करने के बाद केदारनाथ यात्रा रोक दी गई है। वहीं, गंगा का जलस्तर बढ़ने से ऋषिकेश में राफ्टिंग बंद कर दी गई। गंगोत्री और बदरीनाथ हाईवे बार-बार बंद होने के कारण ऋषिकेश में चारधाम यात्रियों को रोक दिया गया।  रुद्रप्रयाग के पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल ने बताया कि दो दिन के लिए भारी बारिश की चेतावनी के बाद शनिवार सुबह ग्यारह बजे के बाद यात्रियों को केदारनाथ नहीं जाने दिया गया। जबकि, केदारनाथ गए यात्रियों से दर्शन के बाद वापस जाने का आग्रह किया है। एसपी ने बताया कि शनिवार को मौसम को देखते हुए ही यात्रा संचालित की जाएगी। हालांकि सुबह 11 बजे तक 7665 तीर्थयात्री केदारनाथ धाम के लिए रवाना हो गए। करीब पांच हजार यात्री सीतापुर, सोनप्रयाग, गौरीकुंड में रुके हुए हैं। उधर, पहाड़ में हो रही बारिश के कारण गंगा का जलस्तर बढ़ जाने से शुक्रवार दोपहर बाद ऋषिकेश में राफ्टिंग का संचालन बंद कर दिया गया। टिहरी के साहसिक पर्यटन अधिकारी केएस नेगी ने बताया कि जलस्तर सामान्य होने के बाद फिर से राफ्टिंग की अनुमति दी जाएगी।