अपराध उत्तराखंड

एसटीएफ ने हाकम सिंह रावत को किया गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर

UKSSSC Paper Leak : यूकेएसएसएससी भर्ती परीक्षाओं में पेपर लीक व नकल करवाने के सरगना हाकम सिंह रावत को देर रात एसटीएफ की टीम देहरादून लेकर पहुंचीं।

यहां एसटीएफ के मुख्य कार्यालय में उससे पूछताछ की गई है। जिसके बाद एसटीएफ ने हाकम सिंह रावत को गिरफ्तार कर लिया। आयोग की ओर से करवाई गई अब तक अधिकतर भर्तियों में हाकम सिंह ने नकल व रुपये लेकर युवाओं को भर्ती करवाया है।

 

कुछ और बड़े नेताओं की भी हो सकती है गिरफ्तारी

एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने इसकी पुष्टि की है और उन्होंने यह भी बताया कि इस मामले में कुछ और बड़े नेताओं की भी गिरफ्तारी हो सकती है।

बताया कि चार व पांच दिसंबर 2021 को हुए स्नातक स्तर के पेपर से पहले हाकम सिंह रावत का परिचित व लेनदेन का हिसाब किताब रखने वाले शिक्षक तनु शर्मा ने 20 से 22 छात्रों को रायपुर स्थित अपने कमरे में पेपर देकर पेपर हल करवाया था।

 

वहीं 25 से 30 छात्रों को वह धामपुर ले गया था, जहां उसने परीक्षा की तैयारी करवाई थी। इसके बाद सभी छात्रों को उनके परीक्षा सेंटर पर छोड़ा था। आरोपितों ने प्रति अभ्यर्थी के साथ 12 से 15 लाख रुपए का सौदा किया था।

इसमें कुछ एडवांस के तौर पर तो कुछ परीक्षा में पास होने के बाद देने का वादा किया गया था। पेपर को लेकर जब शिकायत होने लगी तो कुछ अभ्यर्थी ऐसे थे कि जिन्होंने रुपए देने से मना कर दिया।

उन्होंने बताया कि इससे पूर्व हुई भर्ती में भी हाकम सिंह रावत का नाम सामने आ रहा है। ऐसे में रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ की जाएगी। गिरोह में उत्तर प्रदेश से भी कुछ लोगों के जुड़ने के संकेत मिले हैं। धीरे-धीरे कड़ियां जोड़कर उन्हें भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

हाकम ने अपने करीबियों को भी नहीं छोड़ा

एसटीएफ स्नातक स्तर की परीक्षा में पेपर लीक से लेकर अन्य भर्तियों में नकल के संबंध में हाकम सिंह रावत से पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि हाकम ने अपने करीबियों को भी नहीं छोड़ा।

 

उसने अपनी एक करीबी परिचित महिला से भी चार लाख रुपये लिए और स्नातक स्तर की परीक्षा में नकल करवाई, जिसमे महिला अच्छी रैंक से पास हुई। अब एसटीएफ की रडार पर यह महिला भी आ गई है। किसी भी समय महिला की गिरफ्तारी हो सकती है।

हाकम सिंह शुरुआत से थे एसटीएफ की रडार पर

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की स्नातक स्तरीय भर्ती परीक्षा के पेपर लीक के मामले में भाजपा नेता एवं उत्तरकाशी जखोल के जिला पंचायत सदस्य हाकम सिंह रावत शुरुआत से ही एसटीएफ की रडार पर थे।

 

बैंकाक से हाकम सिंह रावत 9 अगस्त को भारत पहुंच चुका था। एसटीएफ ने शनिवार को हिमाचल प्रदेश के बार्डर आराकोट से हाकम सिंह को हिरासत में लिया। सूत्रों के अनुसार एसटीएफ ने पिछले दो दिनों से मोरी क्षेत्र में डेरा डाला हुआ था।

गत शुक्रवार से हाकम सिंह रावत के मोरी सांकरी क्षेत्र में देखे जाने की चर्चा थी। हाकम सिंह रावत की भाजपा के एक पूर्व मुख्यमंत्री सहित सत्ता के गलियारे में कई नेताओं और नौकरशाहों से गहरी निकटता है।

 

कुछ माह पहले हाकम सिंह रावत के होम स्टे में एक वरिष्ठ नौकरशाह भी पहुंचे थे। हाकम सिंह रावत का गांव मोरी ब्लाक का लिवाड़ी गांव है। यह गांव जनपद के सबसे सुदूरवर्ती गांवों में से एक है।

भाजपा से भी होंगे निष्कासित

भाजपा संगठन भी हाकम सिंह के विरुद्ध पार्टी से निष्कासित करने की कार्रवाई कर रही है। उत्तरकाशी भाजपा के जिलाध्यक्ष रमेश चौहान ने दैनिक जागरण से बातचीत करते हुए कहा कि संबंधित जिला पंचायत सदस्य एसटीएफ की हिरासत में होने की जानकारी प्राप्त हुई।

पेपर लीक मामले में संलिप्तता होना बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण है। इस मामले में सरकार निष्पक्ष रूप से अपना काम कर रही है। भाजपा जिला संगठन इस मामले में संबंधित जिला पंचायत सदस्य के विरुद्ध पार्टी की सदस्यता से निष्कासित करने की संस्तुति प्रदेश संगठन को भेजेंगे।

अपराध उत्तराखंड

गदरपुर में पार्षद के घर चोरी का पुलिस ने किया पर्दाफाश, बरामद की जेवरात व डेढ़ लाख की नकदी

गदरपुर में पार्षद के घर हुई लाखों के जेवरात और नकदी चोरी का पुलिस ने पर्दाफाश कर लिया है। चोरी पार्षद के किराएदार समेत दो अन्य परिचितों ने की थी। इस मामले में पुलिस ने किराएदार समेत तीनों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से चोरी के 66 तोला सोने के जेवरात, एक किलो चांदी के जेवरात और करीब डेढ़ लाख की नकदी बरामद की है। बाद में पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

एसएसपी ने किया मामले का पर्दाफाश

एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि पार्षद पति बृजेश सिंह पुत्र वीरेंद्र सिंह गुरुवार को परिवार के साथ ससुराल बुलंदशहर रक्षा बंधन के लिए गया हुआ था। इसके बाद शुक्रवार को वह वापस परिवार के साथ अपने घर पहुंचा। जहां घर में रखी 66 तोला सोने के जेवरात, एक किलो चांदी के जेवरात और करीब डेढ़ लाख रुपये चोरी हो चुके थे।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी थी। इसके लिए आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगालने के साथ ही मुखबिर भी सक्रिय कर दिए गए थे।

 

सीसीटीवी से लगा सुराग

एसएसपी ने बताया कि फुटेज में कुछ संदिग्ध कैद मिले, जिस पर उनकी पहचान की गई। जिसके बाद मुखबिर की सूचना पर गदरपुर वार्ड 11 से तीन युवकों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने अपना नाम वार्ड नंबर 11 निवासी मुस्तकीम पुत्र असगर, जाहिद पुत्र नजर, शुभम पुत्र भगवान दास बताया।

इस दौरान उन्होंने चोरी की बात कबूल की, बाद में पुलिस ने उनकी निशानदेही पर चोरी किए गए 66 तोला सोने के जेवरात, एक किलो चांदी के जेवरात और करीब डेढ़ लाख की नकदी बरामद की।

किराएदार ने रची थी साजिश

गिरफ्तार चोर मुस्तकीम पार्षद पति बृजेश सिंह का किराएदार है और जाहिद तथा शुभम भी उनके परिचित है। बृजेश के परिवार के संबंध में उन्हें पूरी जानकारी थी। यही नहीं वह ससुराल जा रहा है, इसकी जानकारी भी बृजेश ने उन्हें दी थी। जिसके बाद तीनों ने उसके घर में चोरी की योजना बनाई। बाद में पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

पुलिस टीम को 10 हजार का इनाम

एसएसपी ने चोरी का पर्दाफाश करने वाली पुलिस टीम को 10 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। टीम में सीओ बाजपुर वंदना वर्मा, एसओ गदरपुर राजेश पांडेय, एसआइ ओमप्रकाश, एसआइ गौरव जोशी, एसआइ गिरीश चंद्र पंत, कांस्टेबल कैलाश चंद्र, इमरान अंसारी, विमल टम्टा, मोहन बोरा, जानकी बुढ़लाकोटी, रवि शामिल है।

 

गौरव जोशी होंगे पुलिस आफ द मंथ से सम्मानित

चोरी के पर्दाफाश करने में एसआइ गौरव जोशी की अहम भूमिका रही है। चोरी की सूचना मिलने के बाद वह तत्काल जांच में जुट गए थे। जिसके बाद पुलिस ने छह घंटे के भीतर ही चोरों को गिरफ्तार कर लिया था। बताया कि एसआइ गौरव जोशी को माह अगस्त का पुलिस आफ द मंथ से सम्मानित किया जाएगा।

अपराध उत्तराखंड

UKSSSC पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने की 14 वीं गिरफ्तारी, हासिल की थी 163वीं रैंक..

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग उत्तराखंड (यूकेएसएसएससी) पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने 14 वीं गिरफ्तारी की है। एसटीएफ कार्यालय में दोबारा पूछताछ हेतु बुलाये गये तुषार चैहान को साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। लीक पेपर की मदद से तुषार चैहान ने परीक्षा में 163वीं रैंक हासिल की थी।

जांच में खुलासा हुआ है कि  मनोज जोशी (कोर्ट कर्मचारी) उधमसिंहनगर द्वारा तुषार चैहान पुत्र स्व विरेन्द्र सिंह नि0 कासमपुर, थाना जसपुर उधमसिंहनगर को पेपर उपलब्ध कराया गया था। उसके साथ मिलकर रामनगर के रिजॉर्ट में परीक्षा से पूर्व प्रश्न पत्र को 3-4 अन्य अभ्यार्थियों को पेपर साल्व कराया गया।

तुषार चैहान ने स्वयं तो उक्त प्रश्न पत्र की नकल कर परीक्षा दी गई।  साथ ही साथ मनोज जोशी के साथ मिलकर अन्य परीक्षार्थियों को नकल कराई थी। तुषार चौहान के संपर्क अन्य से जुड़ने की भी प्रबल संभावना प्रतीत होती है जिसके कहने पर उपरोक्त को परीक्षा के प्रश्न पत्र उपलब्ध कराया गया हो।

आपको बता दें कि यूकेएसएसएससी स्नातक स्तरीय परीक्षा में लीक मामले में अभी तक 14 अपराधियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। जिनमें से साक्ष्यो के आधार पर 04 सरकारी कर्मचारियों एवं 03 संविदा पर नौकरी करने वाले कर्मचारियों को भी मिलीभगत के आरोप में गिरफ्तार किया चुका है।

अपराध उत्तराखंड

चम्पावत में फर्जी नियुक्ति पत्र लेकर डीपीओ का कार्यभार संभालने पहुंची महिला को पुलिस ने किया अरेस्ट

चम्पावत में फर्जी नियुक्ति पत्र लेकर डीपीओ का कार्यभार संभालने पहुंची एक महिला को पुलिस ने हिरासत में लिया है। विभागीय अधिकारियों की पूछताछ के बाद इस फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ हुआ। मामला खुलने पर बचकर भागने की कोशिश कर रही महिला को चल्थी पुलिस ने रास्ते में पकड़ लिया। फिलहाल महिला से पुलिस पूछताछ कर रही है। शनिवार को एक महिला अन्य तीन लोगों के साथ डीपीओ कार्यालय पहुंची। यहां पूछताछ के बाद महिला ने बताया कि ज्वॉइनिंग के बाद वह जिला कार्यक्रम अधिकारी (डीपीओ) के पद पर शनिवार को ड्यूटी करने आई है। इसके बाद डीपीओ राजेंद्र बिष्ट कार्यालय पहुंचे। उन्होंने महिला से तैनाती के कागज मांगे तो महिला ने कागज दिखाए। तैनाती आदेश को देखकर उन्होंने निदेशालय में फोन कर महिला की नियुक्ति के बारे में जानकारी ली तो वहां से ऐसा कोई आदेश जारी नहीं होने की बात कही गई। शक के आधार पर डीपीओ बिष्ट ने महिला को सीडीओ कार्यालय चलने को कहा। लेकिन इसी दौरान महिला अपने साथ आए लोगों के साथ कार में सवार होकर वहां से खिसक ली। एसपी चंपावत देवेंद्र पींचा ने बताया कि महिला और उसके साथ आए लोगों को चल्थी में पकड़ लिया गया है। इनसे पूछताछ की जा रही है।
अपराध उत्तराखंड

हरिद्वार से गंगाजल लेकर हरियाणा जा रहे कांवड़ यात्री की संदिग्ध हालात में हुई मौत, पढ़े पूरी खबर

हरिद्वार से गंगाजल लेकर हरियाणा जा रहे कांवड़ यात्री की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। डाक्टरों ने हृदय गति रुकने से मौत की आशंका जताई है। सोमवार दोपहर पुलिस को सूचना मिली कि ग्राम मंडावली में दिल्ली हाईवे पर एक व्यक्ति बेसुध होकर पड़ा है। जब तक पुलिस मौके पर पहुंची तो कांवड़ यात्री की मौत हो चुकी थी। मृतक के पास मिले अभिलेखों के अनुसार कांवड़ यात्री की पहचान हरियाणा के भिवानी के ग्राम पोखर निवासी सुधीर शर्मा के रूप में हुई है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक राजीव रौथाण ने बताया कि मृतक के स्वजन को इसकी सूचना दे दी गई है।
मैक्स की टक्कर से एक कांवड़ यात्री की मौत हरिद्वार-नजीबाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर कांगड़ी के समीप तेज रफ्तार से आ रही मैक्स की टक्कर से बाइक सवार एक कांवड़ यात्री की मौत हो गई, जबकि एक अन्य घायल हो गया। हरिद्वार-नजीबाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी कांवड़ यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है। सोमवार सुबह अमरोहा निवासी बाइक सवार दो कांवड़ यात्री हर की पैड़ी से गंगाजल भरकर अपने घर की ओर लौट रहे थे, जैसे ही वह कांगड़ी के समीप पहुंचे पीछे से आ रही तेज रफ्तार मैक्स ने बाइक को पीछे से टक्कर मार दी, जिससे उसमें सवार दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। राहगीरों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आपात सेवा 108 वाहन के माध्यम से दोनों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया, जहां डाक्टरों ने प्रकाश (23) निवासी बाला नांगल, जिला अमरोहा को मृत घोषित कर दिया, जबकि रणवीर सिंह निवासी अमरोहा का इलाज चल रहा है। थानाध्यक्ष श्यामपुर अनिल चौहान ने बताया कि मृतक के स्वजन को घटना की जानकारी दे दी गई है। मैक्स वाहन को पुलिस ने कब्जे में ले लिया, जबकि चालक फरार हो गया, जिसकी तलाश की जा रही है। ओवरस्पीड और ओवरलोड मैक्स बनती है दुर्घटना का कारण हरिद्वार के चंडीपुल से कोटद्वार और नजीबाबाद के लिए मैक्स सेवा संचालित की जाती है। इन मैक्स वाहनों के मालिकों एवं चालकों का नेटवर्क इतना जबरदस्त रहता है कि चंडीपुल से लेकर चिड़ियापुर और उत्तर प्रदेश की कई चौकियों से यह ओवरलोड और ओवरस्पीड निकलते हैं। यातायात पुलिस और एआरटीओ की इंटरसेप्टर वाहन के सामने से गुजरने के बाद भी इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है। अधिकारियों की मिलीभगत से भी इन्कार नहीं किया जा सकता। यही कारण है कि मैक्स वाहन बेखौफ ओवरलोड और ओवरस्पीड से आवागमन करते हैं। कांवड़ यात्रियों से भरा विक्रम पलटा आठ घायल ऋषिकेश-हरिद्वार मार्ग पर आइडीपीएल दुर्गा मंदिर के समीप एक विक्रम वाहन अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गया। हादसे में कांवड़ यात्रा के लिए आ रहे दो परिवारों के सात सदस्य व एक स्थानीय युवक सहित आठ लोग घायल हो गए। सोमवार सुबह करीब साढ़े छह बजे हरिद्वार से ऋषिकेश की ओर आ रहा एक विक्रम वाहन अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पलट गया। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने 108 आपात सेवा की मदद से दुर्घटना में घायल गुमानीवाला निवासी 37 वर्षीय प्रमोद , सोनिया विहार लोनी गाजियाबाद उत्तरप्रदेश निवासी 34 वर्षीय पंकज उनकी पत्नी 30 वर्षीय चांदनी , 11 वर्षीय पुत्र वंश और चार वर्षीय पुत्र वीर और फरीदाबाद निवासी 33 वर्षीय सचिन उसकी पत्नी 32 वर्षीय शिवानी व उनके पुत्र 10 वर्षीय विराट घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक कांवड़ यात्री अपने परिवार के साथ विक्रम में ऋषिकेश की ओर आ रहे थे। सभी घायल खतरे से बाहर है।
अपराध उत्तराखंड

 पुलिस ने आज लूट-चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश…

लूट और चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने सपेरा गिरोह के चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। बदमाशों के खिलाफ पौड़ी से लेकर देहरादून तक लूट और चोरी के कई मुकदमें दर्ज हैं। गिरोह ने देहरादून के सेलाकुई, प्रेमनगर स्थित निंबस एकडमी, बनियावाला और सहसपुर में लूट और चोरी की वारदातों को अंजाम दिया था।
खास बात यह है कि बदमाश बाबा के भेष में शनिदान के नाम पर घरों की रेकी करते थे और उसके बाद रात के समय लूट व चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे। लूट और चोरी की वारदातों को अंजाम देने के लिए बदमाश पेचकस व ताले तोड़ने के लिए लोहे की राड साथ लेकर चलते थे और वारदात को अंजाम देने के बाद वह उन्हें जंगल में फेंक देते थे। यही नहीं बदमाश नंगे पांव के ही वारदातों को अंजाम देते थे। वारदात को अंजाम देते समय वहां मोबाइल का इस्तेमाल भी नहीं करते थे। जांच के बाद पुलिस ने शनिवार को टी एस्टेट से चार बदमाशों को गिरफ्तार किया। बदमाशों की पहचान घोसीपुरा सपेरा बस्ती पथरी हरिद्वार निवासी फौजी नाथ उर्फ चिमटी, गोपीनाथ, गौरव नाथ उर्फ बुद्दी उर्फ रितिक नाथ के रूप में हुई है। बदमाशों के पास से भारी मात्रा में गहने व अन्य सामान बरामद किया गया है। लक्सर : शादी का झांसा देकर बनाए शारीरिक संबंध शादी का झांसा देकर युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाने वाला आरोपित युवक शनिवार को स्वजन के साथ कोतवाली पहुंचा। युवती ने पुलिस को तहरीर दी है। युवक ने बताया कि तीन दिन पहले ही उन दोनों के बीच राजीनामा हो गया था। उसने लिखित राजीनामा भी पुलिस को दिखाया। पुलिस ने युवती से पूछा, तो उसने राजीनामे को मानने से इन्कार कर दिया तथा युवक से शादी करने की जिद पर अड़ गयी। उधर, युवक ने शादी से इन्कार कर दिया। कोतवाल यशपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि अगर दोनों पक्षों में राजीनामा नहीं हुआ तो मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
अपराध उत्तराखंड

 छात्रवृत्ति घोटाले में दो सालों से फरार चल रहे इनामी अपराधी को उत्तराखंड पुलिस ने देहरादून से किया गिरफ्तार

छात्रवृत्ति घोटाले में दो सालों से फरार चल रहे 15 हजार रुपये के इनामी अपराधी को उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने देहरादून से गिरफ्तार किया है।
छात्रवृत्ति को फर्जी तरीके से प्राप्त कर गबन एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि वर्ष 2019 में उत्तराखंड में छात्रवृत्ति घोटाला सामने आया था। हाईकोर्ट के आदेश पर एसआईटी गठित कर जांच करवाई गई थी। एसआईटी की जांच में कुछ विद्यालयों की ओर से छात्रवृत्ति को फर्जी तरीके से प्राप्त कर गबन करना सामने आया। 5 हजार का इनाम क‍िया था घोषित जिला हरिद्वार के थाना सिडकुल में वर्ष 2019 में एन पावर एकेडमी, रानीपुर मोड हरिद्वार के निदेशक राहुल विश्नोई निवासी आवास विकास ऋषिकेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। वह तब से फरार चल रहा था। राहुल बिश्नोई के खिलाफ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जिला हरिद्वार की ओर से 15 हजार ईनाम घोषित किया गया था। एसटीएफ ने गुरुवार को उन्हें मोहिनी रोड, देहरादून से गिरफ्तार किया। आरोपित पर छात्रों की 25 लाख रुपये की छात्रावृत्ति गबन करने का आरोप है। बिहार ले जाने के नाम पर यात्रियों से 17 हजार ठगे लक्सर : दो युवकों ने खुद को ट्रेन का चालक बताकर बिहार के यात्रियों से 17 हजार रुपये ठग लिए। सूचना पर जीआरपी मौके पर पहुंची तथा बताए गए हुलिए के आधार पर ठगी करने वाले दोनों युवकों की तलाश की, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चल सका। समस्तीपुर थाना बेगूसराय बिहार निवासी मुकेश यादव ने बताया कि गिरधारी और पंकज, लंढौरा में एक ईंट भट्टे पर काम करते हैं। उनके साथ वह बिहार जा रहे थे। लक्सर में ट्रेन पकड़ने के लिए पहुंचे थे कि टिकट कंफर्म नहीं होने के कारण वह टिकट घर के पास बैठे हुए थे। इसी दौरान दो युवक उनके पास आए। जिन्होंने बिहार की भाषा में उनसे बात करते हुए खुद को रेल विभाग में ट्रेन का चालक बताया तथा उन्हें अमृतसर से जयनगर (बिहार) जाने वाली ट्रेन के कोच में बैठाकर लक्सर से बिहार ले जाने की बात कही। जिस पर गिरधारी ने आठ हजार और पंकज ने नौ हजार रुपये टिकट रिजर्वेशन के नाम पर दे दिए। दोनों आरोपितों ने उनसे आधार कार्ड मांगा। आधार कार्ड पर लिखे नाम को एक कागज पर उतारकर अपने पास रख लिया तथा उनसे कहा कि वे ट्रेन में इंजन से पिछले कोच में बैठ जाएं। पैसे लेकर दोनों उनके साथ बाजार गेट तक आए। इसके बाद दोनों चकमा देकर मौके से फरार हो गए। थानाध्यक्ष जीआरपी प्रदीप राठौर ने बताया कि यात्रियों की ओर से कोई तहरीर नहीं मिली है।
अपराध उत्तराखंड

स्कूल की छुट्टी के बाद घर लौट रहे छात्र पर युवकों ने किया हमला, स्‍थानीय लोग ने एक को दबोचा 

स्कूल की छुट्टी के बाद घर लौट रहे एक छात्र पर कुछ युवकों ने हमला कर दिया। घायल अवस्था में युवक को राजकीय चिकित्सालय पहुंचाया गया। वहीं हमला करने वालों में एक को स्‍थानीय लोग ने पकड़ ल‍िया है।
स्‍कूल के अन्‍य छात्र पहुंचे तो भाग गए हमलावर भारत विहार ऋषिकेश निवासी उमेद अली (17 वर्ष) आवास विकास स्थित सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में 12वीं कक्षा का छात्र है। गुरुवार को स्कूल की छुट्टी के बाद उमेर अली अपने घर लौट रहा था। स्टेडिया फैक्ट्री के पास 10-12 युवकों ने उस पर हमला कर दिया। इस बीच स्कूल के अन्य छात्र भी वहां पहुंच गए जिसके बाद हमलावर वहां से भाग खड़े हुए। एक हमलावर को स्थानीय नागरिकों ने धर दबोचा है। हमलावर युवकों ने छात्र पर डंडे और ईंट से वार किया, जिससे उसके सिर में गंभीर चोट आई है। विद्यालय के अन्य छात्रों ने उसे राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश पहुंचाया, जहां युवक का उपचार जारी है। कुछ समय पहले हुई थी कहासुनी उधर, मौके पर पहुंची पुलिस ने हमलावर एक युवक को हिरासत में ले लिया है। घायल छात्र उम्मीद अली ने बताया कि हमलावर युवकों में से कुछ युवक उसके मोहल्ले के हैं। कुछ समय पहले किसी बात को लेकर युवकों के साथ उसकी कहासुनी हुई थी। मगर, उसके बाद उनके बीच कोई विवाद नहीं हुआ था। गुरुवार को अचानक ही उन्होंने बिना किसी बात के उस पर हमला कर दिया। वृद्धा की मौत के मामले में तीन दिन बाद पुलिस के हाथ खाली घनसाली: घनसाली और चमियाला में लापरवाही से दोपहिया चलाने वाले चालक राहगीरों के लिए मुसीबत बनते जा रहे हैं, लेकिन पुलिस इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही। बीते सोमवार को रण गांव निवासी शौकानी देवी को एक बाइक सवार ने सड़क पर टक्कर मार दी। इसके बाद महिला की अस्पताल में मौत हो गई थी। तीन दिन बाद भी घनसाली पुलिस बाइक सवार के बारे में कोई सुराग नहीं जुटा पाई। जबकि चमियाला बाजार में तीन- तीन सीसीटीवी कैमरे भी लगे हैं। पिछले साल भी केमरा गांव के पास एक बाइक सवार ने एक शिक्षक को टक्कर मार दी थी । उस बाइक सवार को भी पुलिस नहीं पकड़ पाई।
अपराध उत्तराखंड

नंदा नगर के जंगल में पेड़ पर लटका मिला देवर-भाभी का शव, मौके पर पहुंची राजस्व पुल‍िस…

नंदा नगर के ग्राम प्राणमती में देवर-भाभी का शव जंगल में पेड़ में लटका मिला है। राजस्व पुलिस मौके पर गई है। विगत चार जुलाई से दोनों घर से लापता थे।
गांव की महिला जंगल में लकड़ी लेने गई तो देखा कि दोनों पेड़ पर लटके हुए थे। उसने गांव में आकर ग्रामीणों को इस बारे में बताया। ग्रामीणों द्वारा तहसील नंदा नगर को इसकी सूचना दी। सूचना नायब तहसीलदार आरके देवली अपनी टीम सहित मौके पर पहुंचे। जहां पर ग्रामीणों की मौजूदगी में दोनों शव को पंचनामा करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतक ममता धर्मपत्नी अनिल कुमार उम्र 26 वर्ष और कुंवर राम पुत्र मेहरबान उम्र 27 साल बताएं गए हैं। दोनों रिश्‍ते में देवर भाभी हैं। भरत विहार से अवैध झोपडिय़ों को हटाया ऋषिकेश: भरत विहार क्षेत्र में कुंभ मेला पार्किंग की भूमि पर हुए आधा दर्जन से अधिक अवैध कब्जों को जिलाधिकारी देहरादून के निर्देश पर नगर निगम और राजस्व विभाग की ओर से कार्रवाई कर हटा दिया गया। भरत विहार में कुंभ मेला पार्किंग के लिए सरकारी भूमि है, जहां कुंभ के दौरान अस्थायी पार्किंग के साथ पुलिस फोर्स के रहने की व्यवस्था की जाती है। अतिक्रमणकारियों ने कुंभ मेला पार्किंग की भूमि पर अवैध कब्जा कर लिया। अवैध कब्जे की भनक लगते ही हरकत में आए नगर निगम प्रशासन और राजस्व विभाग ने बुधवार को कार्रवाई की। कर अधीक्षक निशात अंसारी के नेतृत्व में गठित संयुक्त टीम पुलिस फोर्स के साथ पहुंची और सरकारी भूमि पर हुए अवैध कब्जों को हटाने की कार्रवाई की। करीब आधा दर्जन से अधिक अवैध कब्जों हटाकर सरकारी भूमि को कब्जा मुक्त कराया।
अपराध उत्तराखंड

धारचूला तहसील की दारमा घाटी में वाहन गिरने से एक की मौत और दो घायल

धारचूला तहसील की दारमा घाटी में एक वाहन गहरी खाई में गिर गया। इस दुर्घटना में एक स्थानीय युवक की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल बताए जा रहे हैं।
जानकारी के अनुसार वाहन शुक्रवार की सुबह साढ़े बजे के आसपास दुर्घटनाग्रस्त हुआ। दुर्घटनाग्रस्त वाहन सड़क निर्माण का कार्य करा रहे सीपीडब्लूडी के ठेकेदार का बताया जा रहा है। स्थानीय लोग घायलों को धारचूला अस्पताल ला रहे हैं। घटना की सूचना सीपीडब्ल्यूडी के एई अनिल बनग्याल ने प्रशासन को दी। सूचना मिलते ही पुलिस, एसडीआरएफ, आपदा प्रबंधन टीम मौके को रवाना हो गई है। मृतक युवक स्थानीय बताया जा रहा है। मृतक और घायलों के नाम की पुष्टि नहीं हो सकी है। शव का धारचूला में पोस्टमार्टम कराया जाएगा। दहेज हत्या का आरोपित गिरफ्तार अस्कोट: दहेज हत्या के आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार किया। गत 22 जून को मनोज कुमार ग्राम रंाथी ,मुनस्यारी ने कोतवाली अस्कोट में तहरीर दी थी। तहरीर में कहा गया था उसकी बहन राधा की शादी पांच वर्ष पूर्व तेज कुमार मातोली के साथ हुई थी। शादी के डेढ साल बाद तेज कुमार उसकी बहन का दहेज की मांग को लेकर उत्पीडऩ करने लगा और मारता पीटता था। इस उत्पीडऩ से परेशान होकर उसकी बहन ने आत्महत्या कर ली । तहरीर के आधार पर पुलिस ने तेज कुमार के खिलाफ भादवि धारा 498ए / 304 बी व 3/ 4 दहेज प्रतिषेध अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया।इस मामले की विवेचना सीओ धारचूला विनोद कुमार थापा के द्वारा की गई। नामजद आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित की गई। गुरु वार को पुलिस ने आरोपित तेज कुमार पुत्र मोहन राम निवासी ढढखोला को द्वालीसेरा तिराहे के पास गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर जेल भेजा।