Main Slider पंजाब राष्ट्रीय

पंजाब पुलिस ने आज बीजेपी नेता तजिंदर सिंह बग्गा को किया गिरफ्तार

Punjab Police Arrests BJP Leader Tajinder Singh Bagga: पंजाब पुलिस ने आज (शुक्रवार को) बीजेपी नेता तजिंदर सिंह बग्गा को गिरफ्तार कर लिया. पंजाब पुलिस ने बग्गा को दिल्ली से अरेस्ट किया. पंजाब पुलिस की इस कार्रवाई पर बीजेपी नेताओं ने आपत्ति जताई है.
पंजाब राष्ट्रीय

फीस बढ़ाने वाले स्कूलों के खिलाफ एक्शन में पंजाब सरकार, 720 निजी स्कूलों के खिलाफ जांच के आदेश

फीस बढ़ाने वाले स्कूलों के खिलाफ पंजाब सरकार हरकत में आ गई है। आदेश के बाद भी फीस में इजाफा करने वाले राज्य के 720 स्कूलों के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं। खबर है कि इनमें से कुछ स्कूलों ने किताबें और यूनिफॉर्म खरीदने के लिए अतिरिक्त दुकानों की जानकारी देने में भी असफल रहे थे। फीस के मामले पर पंजाब के स्कूलों ने राज्य सरकार के फैसला का विरोध किया था। 30 मार्च को मुख्यमंत्री भगवंत मान ने निजी स्कूलों को फीस नहीं बढ़ाने या अभिभावक को किसी खास दुकान से किताबें खरीदने पर मजबूर करने के खिलाफ आदेश जारी किए थे। जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया था। हालांकि, सरकार के इस फैसले के विरोध में भी कई स्कूल उतर आए थे। उनका कहना था कि कानूनी तौर पर वे हर साल 8 फीसदी फीस बढ़ा सकते हैं। खास बात है कि पंजाब में कुछ सालों से पैरेंट्स निजी स्कूलों की तरफ से फीस बढ़ाए जाने का विरोध कर रहे हैं। इसके अलावा बीते दो सालों में महामारी के बीच इस मामले ने तूल पकड लिया था। अभिभावकों ने आरोप लगाए कि कक्षाएं ऑनलाइन चलने के बावजूद निजी स्कूल फीस काफी बढ़ा रहे हैं। निजी स्कूलों के खिलाफ राज्य के शिक्षा विभाग में भी कई शिकायतें दर्ज कराई गई थी। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, शिक्षा विभाग के आंकड़े बताते हैं कि पंजाब में 28 हजार 568 स्कूल हैं। इनमें से 67 फीसदी सरकारी हैं और बाकी निजी, आदर्श और अन्य वर्ग के हैं। करीब 9 हजार निजी स्कूलों में से 6500 फेडरेशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स एंड एसोसिएशन्स का हिस्सा हैं। राज्य के अधिकांश निजी स्कूल (5400) पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड (PSEB) से संबद्ध हैं। जबकि, 1481 स्कूल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) और करीब एक सैकड़ा ICSE से जुड़े हैं।
पंजाब राष्ट्रीय

आप के उम्मीदवारों का हुआ ऐलान, इन दिग्गजों को राज्य सभा भेजेगी पार्टी

 आम आदमी पार्टी (AAP) ने राज्य सभा चुनावों के लिए अपने चार उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है. पंजाब विधान सभा चुनाव में ‘आप’ को 92 सीटों पर जीत मिली है. इस बड़ी जीत के बाद अब पंजाब कोटे से आम आदमी पार्टी क्रिकेटर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh), राघव चड्ढा (Raghav Chadha), डॉ संदीप पाठक (Dr Sandeep Pathak), अशोक मित्तल (Ashok Mittal) और संजीव अरोरा को राज्य सभा भेजेगी.

पार्टी ने खत्म किया सस्पेंस

राज्य सभा के लिए नामांकन के लिए आज आखिरी दिन है. हरभजन सिंह का नाम तो चर्चा में था, लेकिन बाकी नामों को लेकर अटकलें चल रही थीं. ऐसे में आज पार्टी की ओर से इस पर से सस्पेंस खत्म कर दिया गया. दरअसल पंजाब के 7 राज्यसभा सदस्यों में से 5 का कार्यकाल 9 अप्रैल को खत्म हो रहा है. इस बार के पंजाब विधान सभा चुनावों में आम आदमी पार्टी  ने 117 में से 92 सीटें जीतीं हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि सूबे की 7 में से 6 राज्यसभा सीट AAP के खाते में जाएंगी. पंजाब में जिन 5 राज्य सभा सदस्यों का कार्यकाल अप्रैल में पूरा हो रहा है उनमें सुखदेव सिंह, प्रताप सिंह बाजवा, श्वेत मलिक, नरेश गुजराल और शमशेर सिंह दुल्लो शामिल हैं.

AAP के प्रत्याशियों को जानिए

इसी तरह आप ने लवली यूनिवर्सिटी के चांसलर अशोक कुमार मित्तल (Ashok Kumar Mittal) का नाम फाइनल किया है. अशोक मित्तल लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के फाउंडर हैं. अशोक मित्तल शिक्षा के क्षेत्र में अपने काम और समाज सेवा के लिए जाने जाते हैं. सामान्य परिवार से आने वाले अशोक मित्तल ने अपने दम पर कामयाबी हासिल करते हुए समाज और पंजाब की सेवा के लिए LPU की स्थापना की थी. वहीं पांचवे उम्मीदवार के रूप में संजीव अरोरा का नाम सामने आया है. मशहूर क्रिकेटर हरभजन सिंह के बारे में तो सभी लोग जानते हैं. वहीं राघव चढ्ढा भी दिल्ली का जाना माना चेहरा हैं. वो जल बोर्ड के उपाध्यक्ष भी हैं. सक्रिय राजनीति में आने से पहले राघव चड्ढा चार्टर्ड अकाउंटेट की नौकरी करते थे. राघव को बेबाकी से अपनी बात रखने के लिए जाना है. वर्तमान में राघव चड्ढा दिल्ली विधानसभा के राजेंद्र नगर सीट से विधायक हैं. इसलिए राघव चड्डा को राज्य सभा जाने के लिए अपनी सीट छोड़नी होगी.

कौन हैं संदीप पाठक?

डॉक्टर संदीप पाठक आईआईटी दिल्ली में फीजिक्स के जाने माने प्रोफेसर हैं. संदीप पाठक को बूथ लेवल तक संगठन बनाने में महारथ हासिल है. इससे पहले 2020 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में भी डॉक्टर संदीप पाठक ने आम आदमी पार्टी के लिए काम किया था. संदीप छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के लोरमी के रहने वाले हैं. संदीप का परिवार आज भी बटहा गांव में निवास करता है.