Main Slider बिहार राष्ट्रीय

बिहार की राजनीति के लिए अगले 48 घंटे हैं बेहद अहम, टूट सकता है BJP-JDU गठबंधन

बिहार की राजनीति के लिए अगले 48 घंटे बेहद अहम हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर पाला बदलकर महागठबंधन के साथी बन सकते हैं. सूत्रों के हवाले से यह खबर सामने आई है. सूबे में तेजी से घटनाक्रम बदल रहा है. अटकलें लगाई जा रही हैं कि बीजेपी-जेडीयू का गठबंधन टूट सकता है. बीजेपी को छोड़कर तमाम बड़े दलों ने विधायक दल की बैठक बुलाई है.

कांग्रेस के बिहार प्रभारी पटना रवाना हो चुके हैं. जेडीयू ने अपने सभी सांसदों को सोमवार शाम तक पटना आने को कहा है. जबकि कांग्रेस ने मंगलवार को विधायक दल की बैठक बुलाई है. वहीं आरजेडी ने अपने तमाम विधायकों को अगले 3-4 दिनों तक पटना में रहने का आदेश दिया है.

2017 में महागठबंधन से अलग हुई थी जेडीयू

मंगलवार शाम 6 बजे आरजेडी ने 10 सर्कुलर रोड यानी राबड़ी देवी के आवास पर विधायक दल की बैठक बुलाई है. माना जा रहा है कि इस बैठक में बिहार के बदलते राजनीतिक हालात को लेकर चर्चा हो सकती है. बता दें कि साल 2017 में महागठबंधन से अलग होकर जेडीयू एनडीए में शामिल हुई थी. साल 2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान महागठबंधन बना था, तब जेडीयू ने उसी के साथ सरकार बनाई थी.

इससे पहले रविवार को जेडीयू ने कहा था कि उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल नहीं होने का फैसला किया है. दरअसल, जेडीयू ने दो मंत्री पद की मांग की थी, जिसे बीजेपी ने खारिज कर दिया. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा था कि यह फैसला बिहार में भाजपा के साथ गठबंधन को प्रभावित नहीं करेगा.

बीजेपी-जेडीयू में खटास!

राज्य के शिक्षा मंत्री और जदयू नेता विजय कुमार चौधरी ने कहा, हम नरेंद्र मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होंगे. जेडीयू को भाजपा से सम्मान की उम्मीद थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इसलिए हमने नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल नहीं होने का फैसला किया है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा था कि यह फैसला बिहार में भाजपा के साथ गठबंधन को प्रभावित नहीं करेगा.

चौधरी का बयान बिहार में जेडीयू और भाजपा के बीच खटास का संकेत है और यही कारण हो सकता है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बीजेपी से दूरी बनाए हुए हैं. उन्होंने दिल्ली में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक में हिस्सा भी नहीं लिया.

बिहार राष्ट्रीय

आज जारी होगा बिहार बोर्ड के 10वीं का रिजल्ट, ऐसे जान पाएंगे परिणाम

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित होने वाली मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2022 का परिणाम आज दोपहर जारी किया जाएगा. समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि परीक्षा परिणाम बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी द्वारा जारी किया जाएगा. इस मौके पर विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार भी उपस्थित रहेंगे.

फरवरी में हुई थी परीक्षा

मैट्रिक की परीक्षा 17 फरवरी से 24 फरवरी के बीच आयोजित हुई थी. इस परीक्षा में इस साल कुल 16 लाख 48 हजार 894 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिनमें 8,42,189 छात्र और 8,06,705 छात्राएं थीं. परीक्षा के लिए राज्य भर में 1,525 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे.

35 दिनों में जारी हो रहा रिजल्ट

समिति इस साल 35 दिनों के अंदर परीक्षा परिणाम जारी कर रही है. पिछले साल परीक्षा परिणाम 5 अप्रैल को जारी किया गया था. कोरोना के कारण 2020 और 2021 में परीक्षा परिणाम जारी करने में देरी हुई थी. इससे पहले समिति इस साल 12वीं के परीक्षा परिणाम जारी कर चुकी है.

SMS से जान पाएंगे रिजल्ट

रिजल्ट जारी होने के बाद छात्र बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट http://biharboardonline.com पर रिजल्ट चेक कर पाएंगे. रिजल्ट चेक करने के लिए छात्रों को रोल नंबर और रोल कोड की जरूरत होगी. छात्र एसएमएस (SMS) के जरिए भी रिजल्ट चेक कर पाएंगे. इसके लिए BIHAR 10 रोल- नंबर टाइप कर 56263 पर भेजना होगा.